Monday, 24 October 2011

(A1/5) राम का स्वागत करो -अब आ गयी देखो दिवाली

राम का स्वागत करो
अब आ गयी देखो दिवाली
अब सजा लो थाल पूजा के
अब सजा लो द्वार बन्दनवार से
अब जलाओ दीप कर दो रौशनी चारों तरफ
हो तिमिर का नाम न निशान भी
ज्ञान के दीपक जलाओ
प्रेम हृदयों में जगाओ
टूटते मन  दूर नित हो हो रहे हैं
प्रेम का मरहम लगाकर जोड़ दो
राम का ......................
गीत बदलो -राग बदलो
वो पुराने ताल बदलो
रूढ़ियाँ जो दस रही हैं
आज काले नाग सी
बिच्क्षुओं   के डंक  वाले;
रीत और रिवाज बदलो
एक मालिक है सभी का
राम -अल्लाह एक हैं
मत लड़ो ले नाम इनका
खोखली बुनियाद वाले
अपने हर अंदाज बदलो
राम का ..............
झोपड़ों में जी रहा है जो
अश्क अपने पी   रहा है जो
बेदना  से त्रस्त  है
अपनों के भय से ग्रस्त है
चीथड़ों में ढंके उस इंसान की
 जिंदगी को एक नया  आयाम दे दो
लाश जिन्दा हैं-हुआ शोषण तुम्हारे हाथ जिनका
मांस के उन लोथड़ों को  
आज थोड़ी जान दे दो
आग में जलते रहे अपमान की
पैर की जूती ही बनकर रह गए हैं
उन सिसकते बचपनो को   
माँ का आँचल मिल सके
वरदान  दे दो























डॉ आशुतोष  मिश्र
आचार्य नरेन्द्र देव कॉलेज ऑफ़  फार्मेसी
बभनान,गोंडा, उत्तरप्रदेश
मोबाइल न० 9839167801


21 comments:

  1. सबके बनकर राम की करो सेवा।

    ReplyDelete
  2. मिश्रा जी,अपनी इस रचना में आपने आज् की बुनियादी बातों को बड़ी अच्छी तरह पिरो कर प्रस्तुत किया,बधाई ...

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये.....

    ReplyDelete
  3. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये.....

    ReplyDelete
  4. ..दीपावली की शुभकामनाएँ !!

    ReplyDelete
  5. सटीक बात कही है .

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  6. दोहों के आगे दोहे
    =========
    ज्योति-पर्व पर आपको, प्रेषित मंगल-भाव।
    भव-सागर में आपकी, रहे चकाचक नाव॥
    =========
    सद्भावी- डॉ० डंडा लखनवी

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...दीपावली की ढेरों शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें .... हैप्पी दिवाली ...!

    ReplyDelete
  9. बहुत सुंदर कविता।
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  10. सुंदर कविता, सुंदर भाव।
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  11. उत्कृष्ट रचना,बहुत ही उच्चभाव व उदारता से लिखी गई यथार्थपरक व सार्थक संदेश देती कविता,आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायेँ।

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर रचना……………दीपावली पर्व पर आपको और आपके परिवारजनों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  13. प्रभावशाली प्रस्तुति
    आपको और आपके प्रियजनों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें….!

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    नई पोस्ट पर आपका स्वागत है
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  14. अच्छी बात कही है .दीपावली की ढेरों शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  15. दीपावली के पावन पर्व पर हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएँ |

    way4host
    rajputs-parinay

    ReplyDelete
  16. Kyun Sir.. Deepawali mei ghar par hi rahenge..
    Aapko badhai dene aa gaya..

    Happy Dipawali..

    ReplyDelete
  17. बहुत सुन्दर रचना...शुभ दीपावली सर ..

    ReplyDelete
  18. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  19. अतिसुन्दर...वाह!

    ReplyDelete

लिखिए अपनी भाषा में