Tuesday, 27 December 2011

(A/1/42) नए वर्ष में नए गीत हों

           नए वर्ष में नए गीत हों

           नए राग हों,नए क्षंद हों

           भाषाओँ, मजहब के नामों

          कभी वतन में जंग ना हों


                जलकर खुद यूं रोज दिवाकर 

                जग को रोशन करता है 

                हम जुगनू ही सही

                हौसले कभी हमारे मंद न हों 


         उत्तर-दक्षिण पूरब-पश्चिम

         जहाँ कहीं हो मन घूमें

         देशों की सीमाएं झूठी

         उन्मुक्त उड़ाने बंद ना हों


                  मसला जब तय होना हो

                  दुनिया की भूखी जनता का

                  नेताओं के बीच कभी भी

                  होली सा हुरदंग न हो

 

         प्रलय रोकना है तो हमको

         मिलकर बृक्ष लगाने होंगे

         ओजोन कवच के छेद कभी

         भाषण  बाज़ी से बंद न हों

 

 

एक बार पुनः ह्रदय की अनंत गहरायिओं में श्रजित शुभकामनाओं के साथ कामना करता हूँ की नव वर्ष २०१२ आपके जीवन में खुशियों का पर्याय बनकर आये ..सौभाग्य और सफलता आपके कदम चूमे...आप और आपका परिवार स्वस्थ और प्रसन्न रहते हुए प्रगति के नए सोपान तय करे ..इन्ही शब्दों के साथ ..............हमेशा ही आपका 


डॉ आशुतोष मिश्र

निदेशक

आचार्य नरेन्द्र देव कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी
बभनान, गोंडा, उत्तरप्रदेश
मोबाइल न० 9839167801

23 comments:

  1. आपको भी नए साल की ढेर सारी शुभकामनाएं ..

    ReplyDelete
  2. नए वर्ष में नए गीत हों
    नए राग हों,नए क्षंद हों
    भाषाओँ, मजहब के नामों
    कभी वतन में जंग ना हों

    aameen

    ReplyDelete
  3. आपको भी नव वर्ष की समस्त शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  4. भाषाओँ, मजहब के नामों
    कभी वतन में जंग ना हों ...

    आमीन ... आपका कहना सही हो और जीवन सरस हो ...
    आपको भी २०१२ की बहुत बहुत मंगल कामनाएं ...

    ReplyDelete
  5. प्रलय रोकना है तो हमको
    मिलकर बृक्ष लगाने होंगे
    ओजोन कवच के छेद कभी
    भाषण बाज़ी से बंद न हों

    bahut hi sundar rachana Mishr ji rachana ki liye apko badhai pryavaran sanrakshan ke sandrbh me ap ki chintayen nih sandeh samaj ko jagukta ke liye vivash karengi ....Sath hi Nav Varsh 2012 pr apko Hardik Subhkamnayen .

    ReplyDelete
  6. आपके सुन्दर और अनुपम भाव संग्रहणीय हैं.

    आनेवाले नववर्ष की आपको व आपके परिवार को
    बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  7. मसला जब तय होना हो
    दुनिया की भूखी जनता का
    नेताओं के बीच कभी भी
    होली सा हुरदंग न हो

    behtareen prastuti.

    ReplyDelete
  8. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  9. आने वाला वर्ष आपके लिए भी मंगलमय हो ....

    ReplyDelete
  10. आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    चर्चा मंच-743:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    ReplyDelete
  11. रस्तुति अच्छी लगी । मेरे नए पोस्ट पर आप आमंत्रित हैं । नव वर्ष -2012 के लिए हार्दिक शुभकामनाएं । धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  12. नये वर्ष में सबका मंगल..

    ReplyDelete
  13. आप सब को नव-वर्ष २०१२ की
    बधाई और शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  14. आप की शुभकामनाओं के साथ, नववर्ष के लिए मेरी ओर से भी शुभकामनाएं शामिल हों.

    ReplyDelete
  15. बहुत सुंदर प्रस्तुती बेहतरीन रचना,.....
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाए..

    नई पोस्ट --"काव्यान्जलि"--"नये साल की खुशी मनाएं"--click करे...

    ReplyDelete
  16. जलकर खुद यूं रोज दिवाकर
    जग को रोशन करता है
    हम जुगनू ही सही
    हौसले कभी हमारे मंद न हों
    bahut sundar bhav
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाए..

    ReplyDelete
  17. नया साल सुखद एवं मंगलमय हो,..
    आपके जीवन को प्रेम एवं विश्वास से महकाता रहे,

    मेरी नई पोस्ट --"नये साल की खुशी मनाएं"--

    ReplyDelete
  18. नव वर्ष मंगलमय हो ..
    बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  19. Very positive thoughts towards new year..

    ReplyDelete

लिखिए अपनी भाषा में